भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने टी-20 वर्ल्ड कप के लिए बुधवार को टीम इंडिया का ऐलान कर दिया है। इस टीम में कई ऐसे खिलाड़ियो को मौका दिया गया जिनकी उम्मीद किसी को नही थी। वही भारत की वर्ल्ड कप टीम के साथ एक ऐसा नाम भी जुड़ा जिससे सब हैरान हो गए। BCCI ने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को भारत की 15 सदस्यीय टीम का मेंटर घोषित किया है। ऐसे में आने वाले समय मे धोनी को टीम इंडिया में और भी बड़ी जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है।

क्या टीम इंडिया के कोच बनेंगे धोनी???

महेंद्र सिंह धोनी आने वाले T-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के कोच भी बन सकते है। बता दे कि टीम के मौजूदा कोच रवि शास्त्री का कार्यकाल टी-20 वर्ल्ड कप के बाद ही खत्म हो रहा है। ऐसे में धोनी अगर टीम इंडिया के कोच बन जाये तो कोई बड़ी बात नही होगी। मैदान पर धोनी और विराट कोहली की जोड़ी को पहले भी बड़े कमाल करते हुए देखा गया है। कोहली खुद भी यही चाहेंगे कि उनको आने वाले समय मे धोनी का साथ मिले। बता दे कि इंटरनेशनल क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद धोनी भारतीय क्रिकेट टीम से एकदम अलग हो गए थे, लेकिन उन्हें अचानक मेंटर के रूप में देखकर सभी हैरान है।

वर्ल्ड कप के लिए मिली बड़ी जिम्मेदारी

BCCI सचिव जय शाह ने UAE और ओमान में 17 अक्टूबर से शुरू होने वाले T-20 वर्ल्ड कप के लिए टीम की घोषणा करने के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पूर्व भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी टी-20 वर्ल्ड कप के लिए टीम के मेंटर होंगे।

उन्होंने कहा,” मैंने उनसे दुबई में बात की थी और उन्होंने सिर्फ टी-20 वर्ल्ड कप के लिए मेंटर बनने पर सहमति दी थी और मैंने अपने सभी साथियो से इस बारे में चर्चा की और सभी इससे सहमत है। मैंने कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान रोहित शर्मा से भी इसे लेकर बात की और सभी सहमत है।”

2007 में जिताया था पहला वर्ल्ड कप

बता दे कि महेंद्र सिंह धोनी की ही कप्तानी में भारत ने 2007 में पहला टी-20 वर्ल्ड कप जीता था। उस समय भारत ने फाइनल में पाकिस्तान को 5 रनो से मात दी थी। टीम इंडिया ने इसके बाद 2011 के 50 ओवर वर्ल्ड कप में भी जीत हासिल की थी और उस वक़्त भी टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ही थे।

पिछले साल लिया था सन्यास

धोनी ने पिछले साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था और वह भारत के लिए अंतिम मैच 2019 विश्व कप सेमीफाइनल में खेले थे। इस मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ हार के बाद भारत टूर्नामेंट से बाहर हो गया था।

माना जा रहा है कि धोनी को सीमित ओवरों की क्रिकेट के लिए रणनीति तैयार करने में टीम इंडिया की मदद के लिए नियुक्त किया गया है। धोनी के अनुभव और रिकार्ड्स को देखते हुए इस रोल में वह सबसे फिट नजर आते है। धोनी के पास ICC के बड़े टूर्नामेंट्स में जीत हासिल करने का अनुभव है, और वह इसके लिए एक कारगर रणनीति बनाने में मददगार साबित हो सकते है।