1983 वर्ल्ड कप विजेता पूर्व भारतीय क्रिकेटर मदनलाल भारतीय क्रिकेट में स्प्लिट कप्तानी के समथर्न में उतरे है और उन्होंने कहा कि इससे भारतीय कप्तान विराट कोहली का दवाब कम होगा। मदनलाल ने कहा,’ मेरे ख्याल से यह एक अच्छा विकल्प होगा। हम लोग फिलहाल बेहतर स्थिति में है। हम लोग भाग्यशाली है कि हमारे पास रोहित शर्मा है और जब भी विराट कोहली को लगे कि वह एक या दो फॉरमेट में ध्यान केंद्रित करना चाहते है, उस वक़्त रोहित आ सकते है और उनके पास काफी अनुभव है।’

रोहित की कप्तानी से भारत को मिलेगा फायदा

मदनलाल ने कहा,” मुझे लगता है कि इससे भारत को फायदा मिलेगा। मैने पढ़ा है कि कोहली शायद वनडे और टी-20 की कप्तानी छोड़ेंगे, क्योंकि वह अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान केंद्रित करना चाहते है जो अच्छी योजना है। मुझे नही पता यह महज अफवाह है या क्या है, लेकिन विभाजित कप्तानी की योजना भारत को फायदा पहुंचायेगी। यह निर्भर करता है कि कोहली फिलहाल क्या सोच रहे है। भारत एक टीम के रूप में अच्छा कर रही है और यह हमने हाल ही में इंग्लैंड में देखा है। देखना होगा क्या होता है।”

कोहली से बेहतर कप्तानी करेंगे रोहित

ऐसी रिपोर्ट आई थी कि T-20 वर्ल्ड कप के बाद भारत के सीमित ओवरों की टीम के नेतृत्व में बड़ा बदलाव हो सकता है और कोहली जल्द ही बड़ा फैसला लेंगे। अगर कोहली कप्तानी छोड़ने का फैसला करते है तो रोहित शर्मा वनडे और टी-20 टीम के कप्तान बन सकते है। रिपोर्ट में कहा गया था कि कोहली अपनी बल्लेबाजी में ध्यान केंद्रित करने के लिए यह फैसला लेने के पर विचार कर रहे है।

BCCI ने साफ किया कि कोहली ही रहेंगे कप्तान

हालांकि, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने सोमवार को इन रिपोर्टों को खारिज किया था। धूमल ने कहा था,” यह बकवास है और ऐसा कुछ होने नही जा रहा है। इस पर सिर्फ मीडिया पर बाते चल रही है। बीसीसीआई ने कोई बैठक नही की है और विभाजित कप्तानी पर कोई चर्चा नही हुई है। कोहली सभी प्रारूपों में कप्तान बने रहेंगे।”